गोरखपुर जिले में हुई एक अनोखी शादी,माँ और बेटी  ने एक ही मंडप में रचाई शादी

आजकल शादियों का सीजन चल रहा है पर हम आपको एक ऐसी शादी के बारे में बताने वाले हैं जिसमें मां और बेटी एक ही मंडप पर दुल्हन बनी। यह शादी यूपी के गोरखपुर जिले में हुई। दरअसल पीपरौली ब्लॉक में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था जिसमें 53 वर्ष की मां और 27 वर्ष की बेटी ने एक ही मंडप पर शादी की। 

 

53 वर्षीय महिला ने अपने अविवाहित देवर से की शादी

mom wife married in up

 

उस मंडप पर शादी करने वाली महिला विधवा थी और उसने अपने देवर से शादी किया। यह विवाह समारोह एक ऐसा समारोह था जिसमें 63 करोड़ जोड़ों ने सात फेरे लिए जिसमें एक मुस्लिम जोड़ा भी सात फेरे लेने के लिए शामिल था। इस मौके पर वहां के बीडीओ डॉक्टर सी एस कुशवाहा, सत्यपाल सिंह और आने जिला समाज कल्याण विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

 

अपने मां और चाचा के बीच शादी से बच्चों को नही है एतराज 

बेली देवी जो 55 वर्ष की है उसने अपने पति को 25 साल पहले खो दिया था, जिनसे तीन बेटियां और दो बेटे भी हैं। उनकी सबसे छोटी बेटी इंदू कुंवारी थी और उसमें इस विवाह योजना में शादी करने का निश्चय किया। इंदु ने 29 वर्षीय राहुल के साथ शादी की। इसी दौरान उसकी मां ने भी अपने देवर जगदीश के साथ शादी करने का फैसला लिया और पूरे परिवार से इस बात की मंजूरी भी प्राप्त कर ली। 

 

बेली देवी ने बताया है कि वह अपने देवर से शादी करने का फैसला ले चुकी है जो कि एक किसान है और वह अभी तक अविवाहित है। बेली देवी के बच्चों को इस शादी से कोई एतराज नहीं है। इंदू का कहना है कि उसके चाचा और मां ने तीनो भाई बहनों को संभाला था और यदि वह शादी के बंधन में बनना चाहते हैं तो इससे उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।

 

Leave a Comment