जब घर की महिला करने लगे यह कार्य,समझिये घर बर्बाद होने वाला है

दोस्तों स्त्री की तुलना देवी से की जाती है, स्त्री को घर की लक्ष्मी कहा जाता है। किसी भी घर की सुख समृद्धि में उस घर की विवाहित स्त्री के गुणों की अहम भूमिका होती है। स्त्री को ही परिवार का वह सूत्र कहा जाता है जो पूरे परिवकर को आपस मे जोड़ कर रखा जाता है।

 

जब किसी भी कन्या का विवाह होता है तो उसके शुभ गुणों को जरूर देखा जाता है। ऐसा माना जाता है कि शुभ गुणों से युक्त कन्या घर परिवार के समृद्धि और सुख का कारण बनती हैं। इसी के विपरीत ईर्ष्यालु,कलह प्रिय लड़की ,ऐसी लड़की जिसमे अवगुण हो वह घर की समृद्धि में भी बाधा बनती है। इ

सलिए स्त्रियों को अपने आचरण एवम जीवनशैली पर भी बहुत ध्यान देना चाहिए। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि स्त्रियों के कौन से गुण परिवार और घर के लिए अशुभ सिद्ध हो सकते हैं।

 

1 – जिस घर की स्त्री परिवार के सदस्यों से कड़वे बोल बोलती है, जो स्त्री कर्कशा होती है वह स्त्री घर परिवार की सुख शांति हमेशा के लिए भंग कर देती है। इसलिए स्त्रीयों को सदा मीठी वाणी बोलनी चाहिए और परिवार के सदस्यों का आदर करना चाहिए।

 

2 – जिस घर की स्त्रियाँ अधिक सोती हैं,अथवा जिस घर की स्त्रियों दिन के समय सोती हैं उस घर में हमेशा नकारात्मक शक्तियों का वास रहने लगता है ।

 

3 – जिस घर की स्त्रियाँ ईश्वर पर आस्था नही रखती,और पूजा पाठ से दूर रहती हैं उस घर का पतन होने लगता है।

 

4 – जिस घर की स्त्री पराये पुरुष पर अपनी प्रीत रखती हैं वे घर नष्ट हो जाता है। ऐसे घर को कोई भी बर्बादी से नही बचा सकता।

 

5 – जिस घर की स्त्रियाँ अपने बच्चों की परवरिश को महत्व नही देती,अपने बच्चों में संस्कार नही पोषित करती वे घर परिवार आगे चल कर टूट जाता है।

Leave a Comment