भेड़ बन गई ऊन का गोला,ऑस्ट्रेलिया के जंगल में मिली भटकती हुई भेड़ के शरीर से निकला 35 किलो ऊन

27 views

दोस्तों आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में मिली एक भीड़ काफी सुर्खियां बटोर रही हैं। यह भेड़ लगातार चर्चा का विषय बनी हुई है ।

Wild Sheep With 35 Kilogram Coat Of Wool Is Rescued In Australia Here You  Watch The Video - ऑस्ट्रेलिया : पांच साल तक जंगलों में भटकी भेड़ को बचाया,  शरीर से निकला

आपको बता दें कि यह भेड़ पिछले 5 सालों से ऑस्ट्रेलिया के जंगल में भटक रही थी। और इसका नाम बराक है। बराक नाम की इस भीड़ के शरीर से करीब 35 किलो उन निकाला गया है । एक पेड़ के ऊपर इतना सारा उन देखकर लोग हैरान रह गए हैं । आमतौर पर किसी भी साधारण भेड़ के शरीर से केवल 5 किलो तक ऊन प्राप्त होता है ।लेकिन बराक के शरीर से 35 किलो ऊन प्राप्त हुआ है।

पांच साल जंगल में भटकती रही भेड़, 35 Kg ऊन निकालकर बचाई गई जान

आपको बता दें कि जब लोगों ने इसे ऑस्ट्रेलिया के जंगल में चलते हुए देखा तो लोगों को लगा कि ऊन का कोई गोला चल रहा हो। बराक के शरीर पर इतना सारा रोए इकठ्ठा हो चुका था कि लोग इसे देखकर के दंग रह गए ।आपको बता दें कि पिछले 5 सालों से ऑस्ट्रेलिया के जंगल में बराक इसी तरह से लगातार भटक रही थी। और यही कारण है कि इसके शरीर के ऊपर 35 किलो का हो गया था।

ऑस्‍ट्रेलिया के जंगल से बचाई गई भेड़, शरीरी से निकला 35 किलो ऊन, देखें  वीडियो | Viral video of sheep rescued from autralia 35 kilogram coat of  wool– News18 Hindi

ऐसी संभावना जताई जा रही है कि जब या छोटी होगी उसी समय अपने झुंड से बिछड़ गई होगी। और इसी कारण से इसे वापस आने का रास्ता नहीं मिल सका और यह जंगल में ही भटकती रह गई। बता देगी यह भेड़ एक समूह के लोगों को विक्टोरियन स्टेट फॉरेस्ट में इधर-उधर भटकती हुई मिली।

VIDEO: ऑस्‍ट्रेलिया के जंगल से बचाई गई भेड़ से निकली 35 किलो ऊन, हैरान रह  गए विशेषज्ञ

जब लोगों ने ऊन का गोला बनी हुई इस भेड़ को देखा तो एनिमल रेस्क्यू सेंटर पर इसको लेकर के गए जहां पर इसके शरीर से उन हटाया गया। मिशन फार्म सेंचुरी के फाउंडर पाम अहेर्न ने यह कहा है कि उन्हें पहले या विश्वास ही नहीं हुआ था कि इतने सारे ऊन के नीचे एक जीवित भेड़ भी मौजूद हो सकती है।

Australian Sheep Baarack Freed From Wool Weighing 78 Pounds Picture Goes  Viral: ऑस्‍ट्रेलिया में जंगली भेड़ बनी 'ऊन का गोला', पकड़ा तो निकला 35 किलो  ऊन - Navbharat Times

बराक पिछले 5 सालों से जंगल में भटक रही थी और इसके शरीर पर उगने वाले यह रोए लगातार बढ़ते ही जा रहे थे । जिन्हें काटा नहीं जा सका और यह धीरे-धीरे इतना बढ़ गया कि यह भेड़ पूरी तरह से इस उन से लद गई। ऊन के भार के कारण बराक सही से चल भी नहीं पा रही थी। पाम का कहना है कि यदि इस भेड़ के शरीर से ऊन को काट के अलग नहीं किया जाता तो वह मर भी सकती थी । बराक के शरीर से उन हटा दिया गया है और अब वह पूरी तरह से सुरक्षित है। उसके शरीर से हटाने के बाद अब व सामान्य दिनों की तरह ही नजर आ रही है।

Related Articles

No results found.

Menu