Laptops

पुलिस मुख्यालय में रची गई थी मनसुख हिरेन की साजिश, ये 3 थे साजिशकर्ता

4 views

कुछ दिनों पहले मुंबई में उद्योगपति मुकेश अम्बानी के घर के बाहर एक संदिग्ध स्कॉर्पियो खड़ी थी, जिसमें विस्फोटक भरा हुआ था, जानकारी के अनुसार वो स्कॉर्पियो ठाणे के व्यापारी मनसुख हिरेन की थी, इस घटना के बाद मनसुख की रहस्यमई मौत हो गई है.

शुरुवात में कहा जा रहा है था कि मनसुख हिरेन ने आत्महत्या की है, लेकिन अब खबर मिल रही है है कि मनसुख ने आत्महत्या नहीं की थी, बल्कि प्लानिंग के तहत उनकी ह्त्या की गई थी, जिसमें कई लोग शामिल थे।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ठाणे के व्यापारी मनसुख हिरेन की ह्त्या की साजिश बीते 2 मार्च 2021 को पुलिस मुख्यालय में रची गई थी.

जिस समय साजिश रची जा रही थी उस समय मीटिंग में 3 लोग मौजूद थे, रिपोर्ट में सचिन वाजे की मौजूदगी का भी दावा किया गया है. मनसुख की हत्या की साजिश में 11 या उससे ज्यादा लोग शामिल हो सकते हैं।

न्यूज़-24 में छपी खबर के मुताबिक़, गिरफ्तार कॉन्स्टेबल शिन्दे के सामने मनसुख की हत्या की गई और जिस 3 अन्य लोग कार में बैठकर यह सबकुछ देख रहे थे।

बता दें कि मनसुख हिरेन हत्याकांड की जांच महाराष्ट्र एटीएस और राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) कर रही है…टेक्निकल का सहारा लेते हुए महाराष्ट्र एटीएस ने मनसुख को आखिरी व्हाट्सएप्प काल करने वाले को ढूढ़ निकाला.

जिसकी पहचान तावड़े (आखिरी कॉल की) के रूप में हुई। एटीएस ने ATS ने इस मामलें में बुकी नरेश गोरे को गिरफ्तार किया गया, उसके पास 15 सिम कार्ड थे, जिसमें से कुछ वाजे को दिए थे।

मनसुख हिरेन की ह्त्या की साजिश तब रची गई जब एहसास हुआ कि जो साजिश रची गई थी यह मामला बड़ा होने की वजह से ATS या केंद्रीय एजेंसी को जा सकता है। मनसुख की मौत का मामला महाराष्ट्र विधानसभा में भी गूंजा था, इस समय राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार बैकफुट पर है।

Tags:

Related Articles

No results found.

Menu