जाने क्यों अमेरिका की तरह मास्क हटाने का फैसला अभी नहीं ले सकता भारत

1 views

अमेरिका में सीडीसी ने हाल ही में ऐलान किया कि दोनों डोज लेने वाले को अब (Mask) मास्क लगाने और सोशल डिस्टेसिंग को फॉलो करने की जरूरत नहीं है।

अगर आप भारत में भी ऐसा ही आदेश आने की सोच रहे हैं तो आप यह खबर जरूर पढ़ लें। इसकी वजह (Aiims Director Randeep Guleria) एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि भारत में ऐसा नहीं होगा।

यहां कोरोना की वैक्सीन लेने के बाद भी मास्क पहनना और सोशल डिस्टेसिंग रखना उतना ही जरूरी है। जितना की वैक्सीन लेने से पहले था। उन्होंने इसकी एक नहीं बल्कि दो दो बड़ी वजहें बताई है।

दरअसल, एम्स डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि भारत में (Coronavirus) कोरोना वायरस लगातार म्यूटेट हो रहा है। ऐसे में अभी इसको लेकर अनिश्चितता है कि कोरोना वैक्सीन बदलते वेरिएंट में लोगों को कितना सुरक्षित रख सकती है।

वहीं बता दें कि अमेरिका में सीडीसी के दो डोज के बाद नहीं है मास्क पहनने की जरूरत वाले बयान के कुछ घंटों बाद ही अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस व्हाइट हाउस में प्रेस वार्ता में बिना मास्क के पहुंचे थे।

यहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में यह बात फिर से दौहराई भी थी। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि मुझे लगता है कि यह बड़ी कामयाबी है। हमारे लिये बहुत बड़ा दिन है।

ज्यादा से ज्यादा अमेरिकियों को तेजी से वैक्सीनेशन कराया जा रहा है। साथ ही उन्होंने सीडीसी की गाइडलाइंस का हवाला देते हुए कहा कि कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके लोगों को अब कोरोना संक्रमण खतरा बहुत ही कम है।

हालांकि एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने अमेरिका की घोषणा को देखते हुए कहा कि भारत में वैक्सीन के बाद मास्क न लगाने की घोषणा करना अभी जल्दबाजी होगी।

उन्होंने कहा कि हमें कोरोना से तब तक सतर्क रहने की जरूरत है। जब तक हमारे पास इससे संबंधित डेटा उपलब्ध नहीं हो जाता है। यह वायरस म्यूटेट होता रहता है। इसलिए अभी कोरोना वैक्सीन के बाद भी मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग दोनों ही जरूरी हैं।

Related Articles

No results found.

Menu