प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना बढ़ते केस को देखकर लिया बड़ा फैसला

1 views

कोरोना वायरस के मामलों ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है. वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज करने के बाद भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कई शहरों में लॉकडाउन भी लगाया जा चुका है वहीं कुछ जगहों पर नाइट कर्फ्यू भी लगा है. महाराष्ट्र में हालात इस कदर खराब हो रहे हैं कि कई और शहरों में लॉकडाउन लगाया जा सकता है.

पंजाब के आठ जिलों में भी नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है. राज्य और जिला प्रशासन कड़े नियम लागू कर रहे हैं और वैक्सीनेशन को तेज करने की जरूरत पता लगने लगी है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई है. इस बैठक में कोरोना की स्थिति और हालात से निपटने को लेकर चर्चा की जाएगी.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामला आए सामने

देश में पिछले कुछ हफ्तों में सबसे ज्यादा हालात महाराष्ट्र में बिगड़ रहे हैं. पिछले एक सप्ताह में कोरोना के देशभर में जितने भी मामले सामने आए हैं उनमें से 61 फीसद मामले महाराष्ट्र के ही हैं. सोमवार को देश में कोरोना के 24,458 मामले सामने आए जो रविवार को मिले 26,386 मरीजों से कुछ कम रहा. आमतौर पर सोमवार को नए मामलों की संख्या में गिरावट देखी जाती है जो इस सोमवार नहीं हुआ. पिछले हफ्ते सोमवार को इस हफ्ते से 9000 कम केस सामने आए थे.

पंजाब में 10वीं, 12वीं कक्षा की परीक्षा

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को राज्य में बढ़ते कोविड-19 मामलों के मद्देनजर 10वीं और 12वीं कक्षा की अंतिम परीक्षाओं को एक महीने के लिए टालने की घोषणा की. पीएसईबी द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, 10वीं कक्षा की परीक्षाएं अब नौ अप्रैल के बजाय चार मई से शुरू होंगी.

12वीं कक्षा की परीक्षाएं 20 अप्रैल से शुरू होंगी, जो पहले 22 मार्च से शुरू होनी थीं. 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 24 मई को समाप्त होंगी. पीएसईबी नियंत्रक (परीक्षा) जनक राज के अनुसार, कक्षा 10 और 12 की तीन घंटे की परीक्षा क्रमशः 10 बजे और दोपहर दो बजे शुरू होगी.

महाराष्ट्र से इंदौर आने वाले हवाई यात्रियों को दिखानी होगी नेगेटिव रिपोर्ट

कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित महाराष्ट्र से इंदौर आने वाले हवाई यात्रियों के लिए स्थानीय प्रशासन ने सोमवार को विशेष आदेश जारी किया. इसके तहत यात्रियों के लिए हवाई अड्डे पर यह जांच रिपोर्ट दिखाना कानूनन अनिवार्य कर दिया गया है कि वे कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हैं.

अधिकारियों ने बताया कि पड़ोसी महाराष्ट्र में महामारी के नये मामलों में तेज उछाल के मद्देनजर स्थानीय स्तर पर संक्रमण रोकने के लिए जिलाधिकारी मनीष सिंह ने यह आदेश जारी किया. उन्होंने आदेश के हवाले से बताया, ‘हवाई मार्ग के जरिये महाराष्ट्र से इंदौर पहुंचने वाले सभी यात्रियों को अपने साथ आरटी-पीसीआर पद्धति की यह जांच रिपोर्ट रखना कानूनन अनिवार्य होगा कि वे कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हैं. यह रिपोर्ट यात्रा से 48 घंटे पहले की अवधि की होनी अनिवार्य है.’

 

 

Related Articles

No results found.

Menu