6 महीनो से आंदोलन कर रहे किसान नेताओ ने PM से की ये माँग

4 views

अब बातचीत नहीं होगी, कृषि कानून अगर रद्द न हुआ तो आंदोलन अनवरत जारी रहेगा, जब तक कानून वापसी नहीं, घर वापसी नहीं?

दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर बैठकर कई महीनों से ऐसा चिल्लाने वाले आन्दोलनजीवियों की अकड़ अब ढ़ीली पड़ गई है, खैर एक न एक दिन ऐसा होना ही था.

तथाकथित किसान आंदोलन का नेतृत्व करने वाले ‘संयुक्त किसान मोर्चा’ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर दोबारा बातचीत का सिलसिला शुरू करने की मांग की है.

बताते चलें की आन्दोलनजीवियों और केंद्र सरकार के बीच अबतक 11 दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन कोई हल नहीं निकल सका है.

संयुक्त किसान मोर्चा ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में लिखा है, ‘सरकार के साथ 11 दौर की बैठक हुई. लेकिन इसके बावजूद भी आंदोलनकारी किसानों की मांगों को नहीं माना गया.

सरकार ने 22 जनवरी 2021 के बाद से बातचीत के दरवाजों को बंद कर दिया. हमने आंदोलन के दौरान अपने 470 साथियों को खो दिया।

चिट्ठी में किसान मोर्चा ने ये भी कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद देश के अन्नदाता आधे साल से सड़कों पर रहने को मजबूर हैं. हम अपनी मांग पर अडिग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए

और एमएसपी की कानूनी गारंटी दी जाए. बातचीत का सिलसिला फिर से शुरू किया जाय. इस चिट्ठी में किसान मोर्चा ने कहा कि 26 मई को दिल्ली की सीमाओं पर हमारे आंदोलन के छह महीने पूरे हो जाएंगे।

Related Articles

No results found.

Menu