रविवार को नहीं करने चाहिए ये काम, सूर्य देव हो जाते हैं रुष्ट

1 views

रविवार का दिन सूर्य देव को समर्पित है, इसलिए इस दिन इनकी विधि वत पूजा अर्चना करने का विधान है। धार्मिक शास्त्रों में सूर्य देव को जीवन का कारक माना जाता है।

धरती के प्रत्येक व्यक्ति को प्रकाश और ऊर्जा सूर्य देव से ही प्राप्त होती है। तो वहीं इन्हें नवग्रह के राजा माना जाता है। मान्यता है कि इनका व्रत रखने से बीमारियों से निजात मिलती है। तो वहीं इनकी आशीर्वाद से जातक की बल-बुद्धि में तीव्रता का विकास होता हैै।

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार तो इनकी रोज़ाना पूजा करनी चाहिए, परंतु आज कल के समय में लोग अपने जीवन में इतना व्यस्त हैं कि रोज़ाना इनकी पूजा नहीं कर पाते।

ऐसे में ज्योतिष विद्वान बताते हैं कि इस तरह की स्थिति में अगर जातक रविवार के दिन इनकी आराधना कर लें, इनकी कृपा प्राप्त हो जाती है। बल्कि कहा जाता है कि ऐसा करने से उसे बाकी दिनों का भी फल मिलता है

घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है, घर परिवार में शांत और निरोगी वातावरण हमेशा बना रहता है। तो आइए जानते है इस दिन इनकी आराधना के आलावा कौन से कार्य करने से सूर्य देव को प्रसन्न कर सकते हैं-

मान्यता है कि इस दिन गाय को रोटी खिलाने से सूर्य देव प्रसन्न होते हैं।

इस लिए सूर्य देव को प्रसन्न करने के लिए हर गाय को रोटी खिलाना चाहिए।

अगर रोज़ाना ऐसा न कर पाएं तो रविवार के दिन अवश्य खिलाएं कहा जाता है इससे बाकी दिनों का भी पुण्य मिलता है।

सनातन धर्म के ग्रंथों के अनुसार, सूर्य भगवान को लाल रंग बहुत बेहद पसंद है, इसलिए इस दिन सूर्य देव को अर्घ्य देते समय जल से भरे कलश में चुटकी भर कुमकुम डाल कर अर्घ्य देना चाहिए तथा इन्हें लाल रंग के पुष्प भेंट करने चाहिए।

इस दिन मछलियों को आटे की गोलियां खिलानी चाहिए, इससे जीवन में संपन्नता और शांति बढती है।

इसके अलावा रविवार के दिन से जुड़े कुछ खास काम बताए जाते हैं, जिनका पालन करना बेहद शुभ माना जाता है-

कोशिश करें कि रविवार को तेल और नमक का सेवन किसी भी रूप में न करें।

चूंकि रविवार के दिन लगभग सबको छुट्टी होती है तो लोग इस दिन मांस और मदिरा खाने का प्लॉन बना लेते हैं, शास्त्रों के अनुसार ऐसी नहीं करना चाहिए।

इसके अलावा रविवार के दिन तांबे से बनी वस्तुओं को खरीदना या बेचनी भी अच्छी नहीं मानी जाती।

Related Articles

No results found.

Menu